Home / Head Office Delhi Events / पेंडुलम डाउजिंग Course By Mission Genius Mind – 17th june in delhi

पेंडुलम डाउजिंग Course By Mission Genius Mind – 17th june in delhi

Pendulum Dowsing Course By Mission Genius Mind

Date/Time:  To Be Decided based on Public Demand

Time Duration: 10 AM – 4 PM (6 Hours)

Fees and Benefits: 4000

Includes a Powerful Pendulum, Pendulum Chart

Certificate,

A DVD with course material,

Lunch, Snacks. 

Venue:

Mission Genius Mind,
18 First Floor,
NWA Club Road,
West Punjabi Bagh,
New Delhi – 110026

9599375269 (Meenakshi)
9599375436 (Shivali)
8447281877 (Pooja)

 


पेंडुलम डाउजिंग क्या होती है ?

हमारे अवचेतन मन में वह शक्ति होती है कि हम एक ही पल में इस ब्रह्मांड में कहीं भी मौजूद किसी भी तरंगों से संपर्क कर सकते हैं, सारा ब्रह्मांड तरंगों के माध्यम से एक-दूसरे से जुड़ा हुआ है।

उन तरंगों के माध्यम से हम जो जानना चाहते हैं या हमारे जो भी सवाल होते हैं – जैसे जमीन के अंदर पानी खोजना या कोई खोई हुई चीजों को तलाशना उसे हम डाउजिंग कहते हैं।

Image result for dowsing

डाउजिंग किसी भी छुपी हुई बात को खोजने वाली विद्या है। इसके लिए हम पेंडुलम या डाउजिंग रॉड का उपयोग करते हैं। इसमें से कोई यंत्र को हाथों से पकड़ कर जब हम कोई सवाल करते हैं तो यह  पेंडुलम अपने आप गति करने लगता है। अलग अलग तरह के dowsing tools यहाँ दिखाए गए हैं.

Image result for dowsing tools

जिसे हम निर्देश दे सकते हैं कि यदि जवाब सकारात्मक है तो सीधे हाथ की और गति करना है और जवाब यदि नकारात्मक है तो उलटे हाथ की और गति करना है।

Image result for dowsing

कुछ अलग तरह के प्रश्नों के लिए हम चार्ट का भी उपयोग कर सकते हैं। आप देखेंगे कि ये गति हम नहीं करते बल्कि हमारे हाथों में लगा यंत्र अपने आप अलग-अलग तरह से गति करने लगता है।

जैसे ही हम यंत्र को हाथ में लेकर कोई सवाल करते हैं तो हमारा अवचेतन मन उन तरंगों को आकर्षित कर लेता है और उन्हीं तरंगों के माध्यम से वो यंत्र हमारे हाथों में गति करने लगता है। इसे सिखने के लिए चेतन मन को शांत करना जरुरी है.

Related image

जब हम यंत्र से सवाल करते हैं तो हमारा चेतन मन सवाल करता है और जवाब पाने के लिए जरूरी है कि सवाल करने के बाद चेतन मन शांत हो जाए और ऐसा करते ही हमारा अवचेतन मन सक्रिय होकर उन तरंगों को अपनी और आकर्षित करने लगेगा और पेंडुलम यंत्र किसी भी छुपी हुई बात का जवाब देने में सफल हो जाएगा।

इसके लिए आपको पेंडुलम से अपने अवचेतन मन को जोड़ना सीखना होता है.  यह विद्या कोई भी सीख सकता है.

Housewives, Business Person, Students, Old Age People.

आप कोई भी सवाल कर सकते हैं जिसका उत्तर हाँ या ना में दिया जा सके –

  • मुझे यह काम करना चाहिए या नहीं?
  • यह कोर्स मेरे लिए अच्छा रहेगा या नहीं?
  • इस तरीके से समस्या का समाधान होगा या नहीं?

यह विद्या सीखना बहुत ही आसन है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*