Home / Mind Power / Stammering (हकलाना) का इलाज़

Stammering (हकलाना) का इलाज़

मेरे पास बहुत से ईमेल और SMS आते हैं, जिसमे लोग हकलाना का इलाज़ पूछते हैं. मैं इस टॉपिक का एक्सपर्ट नहीं हूँ. आपकी सुविधा के लिए मुझे जो अच्छे लिंक मिले यहाँ शेयर कर रहा हूँ. आशा है आप इनका फायदा उठा पाएंगे.

साभार http://www.indiaspeechtherapyjaipur.org/haklana.htm

हकलाना बीमारी नहीं है

हकलाना बीमारी नहीं एक गलत आदत है, जोकि जन्म से नहीं होती है। छोटी उम्र में किसी कारण से बच्चे का श्वास छोटा होने से यह शुरू होती है। श्वास छोटा होने के निम्न कारण होते हैं :-

1. किसी बीमारी में शारीरिक कमजोरी आने से,

2. किसी के डर से,
3. किसी दूसरे हकलाने वाले की नकल करने से,

4. कोई दुर्घटना या कोई हादसा होने से।

किसी भी कारण से आपका श्वास छोटा हुआ और आप रूक-रूक कर बोलने लगे (क्योंकि श्वास से ही स्वर बनता है ) आप रूक-रूक कर नहीं बोलना चाहते, असलियत का आपको ज्ञान नहीं, आप रूक-रूक कर बोलने की बजाय उसी कम श्वास में ज्यादा बोलने लगे, कम श्वास में ज्यादा बोलते-बोलते आपकी बोलने की स्पीड अपनी आखरी सीमा से आगे बढ़ गई और स्पीड बढ़ने के कारण ही आप अटक कर बोलने लग गये, इस अटकने को ही आप हकलाना कहते हैं।

इसमें साइक्लोजी क्या है? जो होगा वो तो दिमाग में आयेगा ही, छोटी उम्र से आज तक लगातार अटक कर बोलने से आपके दिमाग में यह बात आ चुकी है कि आप हकलाते हैं, इसी को आप साइक्लोजी कहते हैं।
कुछ व्यक्ति समझदार होने के बाद अपनी इस समस्या पर विशेष ध्यान देने लगते हैं, जो शब्द आपके बोलने में ज्यादा इस्तेमाल होते हैं, आपकी बोलने की स्पीड ज्यादा होने के कारण उन्हीं शब्दों पर आपको ज्यादा हकलाना महसूस होता है और उन्हीं अक्षरों को आप कठिन अक्षर समझ कर अपने दिमाग में छाँट लेते हैं कि इन विशेष अक्षरों पर मैं ज्यादा हकलाता हूँ।

हकलाने वाले व्यक्ति हर समय ठीक बोलने की कोशिश में रहते हैं। कठिन अक्षर दिमाग में छाँटने के बाद अब आपके सामने दो ही रास्ते हैं, या तो कठिन अक्षरों से संघर्ष करो या उसकी जगह दूसरा शब्द बोलो (जिसे आप आसान समझते हैं) जैसे या तो ’पा-पा-पा पानी’ बोलो या उसकी जगह ’जल’ बोलो। इस प्रकार कठिन अक्षरों से संघर्ष करने या शब्दों को बदल कर बोलने से आपकी साइक्लोजी बढती जायेगी और आप जीवन भर हकलाते रहेंगे।

पूरा आर्टिकल यहाँ से पढ़ें

http://www.indiaspeechtherapyjaipur.org/haklana.htm

http://www.onlymyhealth.com/ayurveda-stammering-problem-in-hindi-1318848079

One comment

  1. thankyou sir…good job..I’m thankful to you.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*