Home / Study & Brain Power / कैसे पढ़ें कि याद रहे

कैसे पढ़ें कि याद रहे

सूचना क्रांति के इस युग में इंटरनेट ने शिक्षा को एक व्यापक स्वरूप प्रदान किया है। जिसके चलते युवाओं की पढाई के तरीके में काफी बदलाव आ गया है।

जहां पहले इतिहास, भूगोल, हिन्दी जैसे विषयों को विद्यार्थी बार बार पढकर कंठस्थ करते थे। वहीं अब इन विषयों को विद्यार्थी एक टेक्निकल एप्रोच के साथ पढते हैं। जिसमें वह चार्ट बनाकर या फिर ईजीगोईंग शॉर्ट फॉर्म बनाकर विषयों को समझते और याद करते हैं। जिससे न तो उन्हें विषय बोरिंग लगते हैं और वह उन्हें लम्बे समय तक याद रख पाते हैं।
चार्ट पैटर्न है बेस्ट
लोक सेवा आयोग (पीएससी) जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रही बीए की छात्रा पुष्पलता जैन का कहना है कि याद करने का सबसे बेस्ट तरीका चार्ट पैटर्न है। इसमें कम शब्दों में एक पेज में सारी महत्वपूर्ण जानकारी सुव्यवस्थित रूप में आ जाती है। जिससे दो-तीन बार ध्यान से प़ढ़ने से वह सारी जानकारी दिमाग में सेट हो जाती है। एग्जाम के समय मैं इसी पैटर्न से पढाई करती हूं। जिससे कम समय में मैं किसी भी टॉपिक का अधिक से अधिक पोर्शन कवर कर लेती हूं।


शॉर्ट फॉर्म है आसान
बॉयो सब्जेक्ट लेकर पढाई कर रहे छात्रों से पूछो कि उन्हें बॉटनी, जूलॉजी और केमेस्ट्री में किन टॉपिक को याद रखने में सबसे ज्यादा दिक्तत होती है। तो सबसे पहले उनका जवाब होता है पौधों और पशु-पक्षियों के वैज्ञानिक नाम तथा केमेस्ट्री में केमिकल रिएक्शन।
जिसको याद रखने के लिए अब युवाओं ने एक टेक्नीकल फंडा ढूंढ लिया है। जिसमें किसी भी प्राणी के वैज्ञानिक नाम का पहले और आखिरी अक्षर को मिलाकर एक शॉर्ट फॉर्म तैयार कर लेते हैं। जिससे वह नाम उन्हें ईजीगोईंग याद हो जाते हैं।
फर्स्ट लेटर टेक्निक
जिस भी विषय के विद्यार्थी नोट्स बना रहे हैं उनके महत्वपूर्ण टॉपिक्स के पहले लेटर को कोड करते हुए एक स्पेशल वर्ड बना लेते हैं। जिससे हल्का रिवीजन करने से भी वह विषय माइंड में सेट हो जाता है।


स्पाइडर नोट टेक्निक
नोट्स बनाने के इस पैटर्न का उपयोग विद्यार्थी सोशलॉजी एवं हिस्ट्री के नोट्स तैयार करने में करते हैं, जिसके अंतर्गत वह किसी पाइंट को सेन्ट्रल में रखकर उससे सम्बंधित महत्वपूर्ण बिन्दुओं की एक श्रेणी तैयार कर लेते हैं, जिससे उस टॉपिक से सम्बंधित सारे महत्वपूर्ण बिन्दु दिमाग में बैठने के साथ ही शॉर्ट नोट्स के रूप में तैयार हो जाते हैं।
चार्ट पैटर्न
छोटे-छोटे चार्ट बनाकर विद्यार्थी केमेस्ट्री और बायोलॉजी जैसे विषयों को आसानी से तैयार कर सकते हैं।
पीक्यूआरएसटी (PQRST) पैटर्न


पढाई का सबसे बेस्ट तरीका है पीक्यूआरएसटी पैटर्न।

जिसमें पी का अर्थ है प्रीव्यू मतलब पढ़ने से पहले विषय पर एक सरसरी नजर डालना।

उसके बाद उस विषय से सम्बंधित Question तैयार करना।

फिर उस टॉपिक को ध्यान से पढते हुए निकाले गए प्रश्नों के उत्तर (Reply, Response) तैयार करना।

इसके बाद तैयार उत्तरों का सेल्फ रेसीटेशन (Recitation) करना और

अंत में याद किए हुए विषय का सेल्फ टेस्ट (Self Test) लेना।

यह पैटर्न जहां पढाई को रोचक बनाता है, वहीं इसके माध्यम से विद्यार्थी लम्बे समय तक विषय को याद रख सकते हैं। इसके लिए वह जो भी टॉपिक पढ रहे हैं उसे अपने आस-पास के माहौल से जोडते चलते है जिससे उन्हें उस विषय को याद रखने में आसानी होती है। तो वहीं थोडा सा भी क्लिक होने पर एग्जाम टाइम पर बेहतर ढंग से लिख पाते हैं।

 

(Visited 4,211 times, 12 visits today)

2 comments

  1. Sir i read 10th up board . Apke pas hamare yogya ki e-book or mp3 ho to link share kar dijiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*