Home / FREE Stuff Books, Audio Video & Links / Sujok Acupressure से घर बैठे बीमारियाँ ठीक करें

Sujok Acupressure से घर बैठे बीमारियाँ ठीक करें

विश्व में प्रचलित विभिन्न वैकल्पिक चिकित्सा-पद्धतियों में ‘सुजोक’ चिकित्सा पद्धति का नाम अब अनजाना नहीं रह गया है। महर्षि वशिष्ठ द्वारा प्रतिपादित ‘वशिष्ठ-विद्या’ को ही बाद में चिकित्सा वैज्ञानिकों ने एक्यूप्रेशर चिकित्सा पद्धति के रूप में विकसित किया। इस पद्धति में शरीर के विभिन्न मर्म-बिंदुओं पर दबाव देकर रोगों को दूर किया जाता हैं। लेकिन कई मर्म बिंदु ऐसे स्थानों पर भी होते हैं, जिन पर उपचार देने में चिकित्सक असहजता महसूस करते हैं। इन समस्याओं के निराकरण तथा रोगों के उपचार में सफलता की दर को बढ़ाने के लिए निरंतर अनुसंधान होते रहे।

इस क्रम में कोरिया के नेत्र रोग चिकित्सक डाॅ. पार्क जे वू ने अपने अनुसंधान से यह सिद्धांत स्थापित किया कि मनुष्य के समस्त अंगों से संबंधित मर्म स्थल हाथों और पैरों के पंजों में भी स्थित होते हैं और इन पर भी उपचार करके असाध्य रोगों को दूर किया जा सकता है।

यह तथ्य इस चिकित्सा पद्धति के ‘सुजोक’ नामकरण से भी स्पष्ट है क्योंकि कोरिया में ‘सु’ का अर्थ हाथ और ‘जोक’ का अर्थ पैर होता है। सुजोक चिकित्सा पद्धति का यह सिद्धांत सादृश्य सिद्धांत नाम से भी जाना जाता है। इस चिकित्सा पद्धति के अनुसार माना जाता है कि मानव शरीर में बारह मार्गों द्वारा ऊर्जा का निरंतर प्रवाह होता रहता है। इन मार्गों को ‘मेरिडियन’ कहते हैं। जब यह प्रवाह सामान्य रूप से होता है तब व्यक्ति स्वस्थ रहता है परंतु ऊर्जा के प्रवाह-मार्ग में अवरोध अथवा अनियमितता के कारण रोगों की उत्पत्ति होती है। सुजोक चिकित्सा पद्धति द्वारा ऊर्जा के इसी प्रवाह को नियंत्रित कर रोगों से मुक्त करने का प्रयास किया जाता है।

 

Mission Genius Mind is offering Online and Live courses for Sujok

Diploma in Sujok Therapy

Master Diploma in Sujok Therapy

Diploma in Acupressure

Master Diploma in Acupressure

Super Master Diploma in Sujok

For details please call :  

Mob: 9599375269, 9599375436, Swati(9599870097)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*